राजस्थान के इतिहास जानने के महत्वपूर्ण स्त्रोत

Q 1.तांबा पात्र क्या है?

    तांबा  पत्रों से राजस्थान के इतिहास (history)  से संबंधित राजनीतिक (political)  घटनाओं,  तत्कालीन अर्थव्यवस्था (economic)  तथा व्यक्ति विशेष की जानकारी मिलती है। इनसे राजा महाराजाओं की उदारता,  दान शीलता तथा धार्मिक  का पता चलता है।

Q 2. मलिक मोहम्मद जायसी कौन था?

     मलिक मोहम्मद जायसी एक उच्च कोटि के विद्वान कवि थे।  उसने 1543 ईस्वी के आसपास पद्मावत नामक महाकाव्य की रचना की।  इस महाकाव्य में अलाउद्दीन खिलजी द्वारा चित्तौड़ पर किए गए आक्रमण का विस्तृत वर्णन मिलता है।

Q 3. रणकपुर प्रशस्ति का ऐतिहासिक महत्व
     रणकपुर प्रशस्ति से महाराणा (raja)  कुंभा की बूंदी,  सारंगपुर गागरोन,  अजमेर,  मंडोर एवं मांडलपुर की विजयों तथा तत्कालीन रीति-रिवाजों,  सामाजिक,  धार्मिक तथा आर्थिक जीवन के बारे में विस्तृत जानकारी मिलती है।

Q 4.  मुहणोंत नैणसी
         नैणसी  जोधपुर (jodhpur)  नरेश जसवंत सिंह का दीवान तथा सुप्रसिद्ध ख्यात लेखक था।  उसकी मुख्य रचनाएं  – (1) नैणसी री ख्यात  (2) मारवाङ रा परगना री विगत।

Q 5. सूर्यमल्ल मिश्रण कौन था?
        सूर्यमल्ल मिश्रण बूंदी नरेश राम सिंह (ramsingh)  का प्रमुख दरबारी कवि था। वह राजस्थान का एक प्रसिद्ध इतिहासकार था।  मिश्रण जी ने ‘वंश भास्कर’ नामक ऐतिहासिक ग्रंथ की रचना की जिसमें बूंदी राज्य का विस्तृत तथा राजपूतना (rajputana) के राज्यों (states)  का संक्षिप्त इतिहास मिलता है। 

gudar

नमस्कार, मैं गुदड़ राम Current Classes का Co-Founder & Author Current Classes मैं आपको सभी प्रकार कि शिक्षा संबंधित जानकारी दी जाती हैं। Rajasthan Gk
View All Articles

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.